हंसी ठट्ठा

हास्य एवं व्यंग्य की दुनिया में आपका स्वागत है

53 Posts

6580 comments

राजीव तनेजा


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

बिन माँगे मोती मिले/Valentine Contest

Posted On: 4 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

177 Comments

इक चतुर नार…बड़ी होशियार

Posted On: 9 Dec, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

161 Comments

गज़ब भयो रामा…ज़ुलम भयो रे

Posted On: 1 Nov, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others मस्ती मालगाड़ी में

2 Comments

Page 2 of 6«12345»...Last »

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: राजीव तनेजा राजीव तनेजा

के द्वारा: श्याम कोरी 'उदय' श्याम कोरी 'उदय'

राजीव जी आपने सही लिखा “बच्चन जी,आप पहले सही थे या अब गलत हैँ? न तो वह पहले सही थे और न ही अब सही है कारण कि वह एक पेशेवर इंसान है और हर इंसान के एक पेट होता है उस पापी पेट के लिए इंसान क्या क्या नहीं करता बच्चन जी का भी पेट है इसी लिए आप देख सकते हैं कि वह एक सफल सेल्समेन कि तरह हर ऐरी गैरी वास्तु का विज्ञापन करते हुए सर में तेल से लेकर फटी एडिया पर मरहम लगते नजर आ जायेंगे यहाँ तक कि जब उनके छोटे भैया के बढे भैया उत्तर प्रदेश के सर्वे सर्वा थे तथा उत्तर प्रदेश में अपराध चरम पर थे तो अपने विज्ञापन के द्वारा अमित जी कह रहे थे \'\" यूं पी में है दम चूँकि यहाँ अपराध हैं कम \" वो तो मत दाताओ भला हो कि उनकी बातों में नहीं आए और उत्तर प्रदेश बच गया वैसे भी आप ने सही कहा है, मै उसमे एक बात और जोड़ देता हूँ कि वह गरीबों के मशीहा कभी नहीं रहे उलटे गरीबों को वह एक एंग्री यंग मैंन के रूप में सपने जरूर बेचते रहे थे और गरीब उसी में डूबा रहा / दूसरी बात यह कि वह अब भी क्या कर रहे है एक बदनाम मुख्य-मंत्री के लिए विज्ञापन कर रहे है चूँकि मिडिया ने उन्हें सदी का महानायक तो बना ही दिया है तो उनको एक स्टेज भी तो चाहिए अब उत्तर प्रदेश का जन्म स्थान होने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश के लिए कुछ नहीं किया यहाँ तक के अपने बाल सखा कि फैमिली से भी नाता तोड़ लिया और मुंबई कार्य स्थली होने के बाद भी मुंबई के लिए क्या किया कृपया बताएं, उनको अपना वर्चश्व बचाए रखने के लिए कोई स्टेज तो चाहिए ही तीसरी बात यह कि बह हमेशा अपने को चर्चा में बनाये रखना चाहते है तभी तो उन्होंने मुंबई मेट्रो को अपने घर के पास से गुजरने के रस्ते पर सवाल खड़ा कर दिया कि मेरी प्राइवेसी समाप्त हो जाएगी इसका मतलब यह हुआ कि वह मुंबई के विकास से भी ऊपर हैं, मेरे मन में भी उनके लिए बहुत श्रद्धा थी पर वह जिस प्रकार के कार्य कलाप करते हुए दीखते हैं उससे मन बहुत ही खट्टा हो जाता है मै तो उनसे यह भी पूछना चाहता था कि उत्तर प्रदेश का वासी होने के उपरांत भी उन्होंने उत्तर प्रदेश के लिए क्या-२ कार्य किये है जनता हित के लिए इति श्री

के द्वारा:

के द्वारा: ajaykumarjha1973 ajaykumarjha1973

के द्वारा:

के द्वारा: aditi kailash aditi kailash




latest from jagran